झारखंड में महिला को थूक चटवाया, पंचायत ने सुनाई तालिबानी सजा, डायन-चरित्रहीन बता मारे 20 जूते – HINDI NEWS12

झारखंड में महिला को थूक चटवाया, पंचायत ने सुनाई तालिबानी सजा, डायन-चरित्रहीन बता मारे 20 जूते


झारखंड के गढ़वा में एक मामला सामने आया है जहां एक महिला को भारी पंचायत में तालिबानी तरीके से सजा दी गई। पंचायत में मौजूद लोगों ने महिला को डायन और अनैतिक ठहराते हुए उससे बर्ताव किया, जिसमें भीड़भाड़ और उसे 20 बार जूतों से पीटा गया। इसके बाद महिला को 100 बार कान पकड़ कर उठक बैठक में बुलाया गया। गढ़वा में पंचायत द्वारा तालिबानी तरीके से इस फैसले का सामना किया गया है। पंचायत में मौजूद लोगों ने उसी गांव की महिला को डायन और अनैतिक बताकर न केवल उससे दुर्व्यवहार किया, बल्कि भरी सभा में उससे जूतों पर थूककर चटवाया।

इसके बाद 20 जूते भी मारे गए। फिर भी इस मामले में पुलिस स्थान में आवेदन देने के बावजूद दो महीने से प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है। यह मामला मेराल थाना क्षेत्र का है।

पीड़िता ने परेशान होकर 19 नवंबर को ऑनलाइन आपत्ति दर्ज की है। हालांकि आवेदन ऑनलाइन किया गया था, लेकिन यह मामला चर्चा का विषय बन गया है।

मामले की जानकारी: पीड़िता के आवेदन के अनुसार, गांव के कुछ लोगों ने पीड़िता और उसके पति को 15 अगस्त की रात 12 बजे पंचायत में ले गए। वहां पीड़िता के पति पर दबाव बनाते हुए कहा कि तुम्हारी पत्नी का गांव के ही एक युवक के साथ नाजायज संबंध है। हालांकि, पीड़िता के पति ने इससे इनकार करते हुए पत्नी को निर्दोष बताया।

इसके बावजूद पंचायत ने पीड़िता से 100 बार कान पकड़ कर उठक बैठक करवाई। साथ ही पंचायत में जुटे एक युवक ने तो महिला को 20 जूते मारे तथा उसे जूते पर थूककर चाटने के लिए विवश कर दिया।

16 अगस्त को पीड़िता ने मेराल थाने में दर्ज कराई प्राथमिकी बताया गया कि इस घटना के बाद अगले दिन यानि 16 अगस्त को पीड़िता ने थाने में जाकर प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए आवेदन दिया, लेकिन प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई। उल्टे गांव के ही करीबी युवकों ने मिलकर फिर मारा

इस बार पंचायत में पीड़िता के साथ अवैध संबंध होने का आरोप लगाते हुए उससे 56 हजार रुपये जुर्माना ले लिया गया, जबकि पीड़िता द्वारा किसी तरह के अवैध संबंध होने से इनकार किया था।

पीड़िता की माने तो यह सब उसे चरित्रहीन साबित करने के लिए किया गया था। इसके बाद पीड़िता को गांव और टोले के हैंडपंप से पानी लेने से रोकने दिया गया और समाज से बहिष्कृत करने का फरमान जारी किया गया है। इस घटना को लेकर पीड़िता और उसके परिवार के लोग दहशत में हैं।

Views: 13